जंक्शन पर विद्युत तार की चपेट में आने से झुलसा कर्मी

अन्य ख़बरें बिहार ख़बरें

 

समस्तीपुर। स्थानीय जंक्शन के प्लेटफॉर्म संख्या 6.7 पर यात्री शेड की छत पर काम करते समय एक कर्मी गंभीर रूप से झुलस गया। साथ ही झटका लगने से शेड से प्लेटफॉर्म संख्या 7 के रेलवे ट्रैक पर गिर गया। जिससे सिर व नाक फट जाने से गंभीर रूप से जख्मी भी हो गया। उसकी पहचान बेगूसराय जिला के बरौनी थाना क्षेत्र के सिमरिया निवासी जयजय राम पासवान के रूप में हुई। अचानक हादसा होने पर प्लेटफॉर्म पर खड़े यात्रियों के बीच अफरातफरी होने से भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। घटना की सूचना मिलते ही स्टेशन प्रबंधक अशोक कुमार और आरपीएफ पोस्ट के प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार मौके पर पहुंच गए। स्टेशन प्रबंधक ने मामले की जानकारी रेलवे चिकित्सालय को दी। हालांकिए एंबुलेंस और मेडिकल टीम के आने में देरी को देखते हुए कर्मियों की मदद से जख्मी व झुलसे कर्मी को तत्काल ठेला पर लाद कर रेलवे चिकित्सालय ले जाया गया। जहां पर आपातकालीन वार्ड में भर्ती कर ऑन ड्यूटी चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार किया। मामले की जानकारी मिलते ही रेलवे चिकित्सालय की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉण् मोनिका ¨सह भी अन्य चिकित्सकों के साथ आपातकालीन कक्ष में पहुंच गई। चिकित्सक ने प्राथमिक चिकित्सा के उपरांत उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया। हालांकिए संवेदक के अन्य लोगों की मदद से उसे पटना ले जाया गया।

 

 

घटना की सूचना पर चौकस हुआ रेल प्रशासन

जंक्शन पर विद्युत तार की चपेट में आने से संवेदक का प्राइवेट कर्मी गंभीर रूप से झुलस गया। घटना की सूचना मिलते ही स्टेशन प्रबंधक अशोक कुमार मौके पर पहुंच गए। स्टेशन प्रबंधक ने मामले की जानकारी रेलवे चिकित्सालय को देते हुए मेडिकल टीम भेजने को कहा। इस बीच आरपीएफ पोस्ट के प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार भी सब इंस्पेक्टर पीके झाए हेड कांस्टेबल विनय रामए कांस्ट बल अशोक कुमार राय अन्य बल सदस्यों के साथ मौके पर पहुंच गए। इसके बाद मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक आरएन झा व राजकीय रेल थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच कर मामले की जांच शुरू कर दी।

एंबुलेंस आने में हुई देरी तो ठेला से पहुंचा दिया अस्पताल

विद्युत तार की चपेट में आने से कर्मी गंभीर रूप से झुलसने के साथ ही नीचे रेलवे ट्रैक पर गिर गया। उसकी दयनीय स्थिति को देखते हुए उसके साथ कार्य कर रहे लोगों ने उसे तत्काल उठा कर यांत्रिक कारखाना के समीप लाया। इसके बाद एंबुलेंस व अन्य वाहन मिलने में देरी होने पर रेल प्रशासन की मदद से कारखाना के समीप लगे ठेला पर ही लादकर रेलवे चिकित्सालय पहुंचा दिया।

source : Dainik Jagran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *