नेपाल तक रेल सफ़र में अभी देरी

जयनगर आस -पास कि ख़बरें

 

भारत .नेपाल मैत्री के तहत जयनगर से बर्दीवास 68 किमी बड़ी लाइन के निर्माण में रेल लाइन की कमी हो गई है। प्रथम चरण में जयनगर से कुर्था 34 किमी में काम चल रहा है। कायदे से इसके लिए 34 किमी रेल लाइन की जरूरत है। जबकि मिला है सिर्फ 17 किमी रेल लाइन।

बता दें कि इसके लिए निर्माण एजेंसी इरकॉन ने करीब 6 महीना पूर्व ही सेल कंपनी को राशि जमा कर चुकी है। लेकिन पूरे देश में इन दिनों रेल लाइन की अधिक डिमांड के कारण कम लाइन की आपूर्ति की जा रही है। जयनगर से कुर्था तक अक्टूबर 2018 में रेल लाइन चालू होने की संभावना है।

इसके लिए इरकॉन कंपनी ने श्रीलंका से रेल कम रोड विआइकील (आरआरवी) मंगाया है। जो रेल वेल्डिंग मशीन को रोड एवं रेल दोनों पर रखकर काम कर सकता है। दिल्ली मेट्रो से हालैंड निर्मित वेल्डिंग मशीन मंगाया गया है। जो अच्छा वेल्डिंग करता है। जयनगर से कुर्था तक रेल लाइन चालू हो जाने के बाद देश. विदेश के लोगों को जनकपुरधाम की यात्रा रेल मार्ग से सुलभ हो जाएगी। कुर्था स्टेशन जनकपुरधाम हाल्ट से चार किमी आगे है।

जयनगर से बरदीवास तक कुल नौ स्टेशन एवं पांच हाल्ट बनाये जायेंगे। भूमि की कमी के कारण जनकपुरधाम में हाल्ट ही बनाया जा रहा है। लेकिन इरकॉन के अभियंता इसके अंतरराष्ट्रीय महत्व को देखते हुए कम जगह में बेहतर से बेहतर हाल्ट बनाने में लगे हैं। हाई लेवल प्लेटफार्म के साथ हाल्ट पर दो मंजिला भवन एवं नीचे में पार्किंग स्थल भी बना रहे हैं।

जयनगर, इनरवा, खजुरी, वैदेही, कुर्था को स्टेशन बनाया जा रहा है। जबकि महिनाथपुर परवाहा जनकपुरधाम को हाल्ट बनाया जा रहा है। बिजलपुरा से बरदीवास करीब 17 किमी में भूमि नहीं मिली है।

source :livehindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *