सशस्त्र सीमा बल की 54 वां स्थापना दिवस मनाया गया

जयनगर आस -पास कि ख़बरें

जयनगर
जयनगर अनुमंडल मुख्यालय के बाजार समिति स्थित में एसएसबी 48वीं बटालियन मुख्यालय में सशस्त्र सीमा बल की 54 वां
स्थापना दिवस मनाया गया। आयोजित कार्यक्रम में गीत संगीत, नृत्य, खेलखुद, बाॅलीबाॅल, रस्सी कस्सी के
अलावा अन्य कार्यक्रमो का आयोजन किया गया।

 

 

एसएसबी 48वीं बटालियन के समादेष्टा नन्दन सिंह बिस्ट ने अपने
संबोधन में एसएसबी के स्थापना पर विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए कहा कि भारत चीन के बीच सन 1962 में जंग के
बाद एसएसबी की स्थापना की गई थी। भारत चीन के बीचयुद्ध से यह अनुभव किया गया कि सीमा की सुरक्षा सिर्फ बन्दुक
धारी जवानो द्वारा नही किया जा सकता। बल्कि इसके लिए एक स्वप्रेरित सीमावर्ती जनता का सहयोग अत्यंत आवश्यक है। ऐसे
में एक गैर पारंपरिक विशेषता प्राप्त संगठन की आवश्यकता महसूश की गई। दूर दराज के असुरक्षित विपरीत क्षेत्रो में
जलवायु व भुदुष्य में कार्य करते हुए विभिन्न राज्यो के जनता को प्रेरित कर राष्टंीय सुरक्षा मे ंयोगदान दे सके।
एसएसबी का गठन 20 मार्च 1963 में सुदुर सीमावर्ती क्षेत्रो में युद्ध के समय स्टेबिहाईन्ड रोल के द्वारा
सम्पुर्ण सुरक्षा तैयारी को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से हुआ।

 

यह दक्षिण असाम, दक्षिण बंगाल, उतर प्रदेश के
पहाड़ी इलाके, उतराखडं, हिमाचल प्रदेश, पंजाब के कुछ भागो तथा जम्मु कश्मिर के इलाको में इसे स्थापित किया
गया। सरकार ने बाद में इसका कार्य क्षेत्र में बढोतरी करते हुए मणिपुर, त्रिपुरा और जम्मु में 1965 मेधालय में
1975, सिक्किम में 1976, राजस्थान में 1985, दक्षिण बंगाल, नागालैण्ड और मिजोरम में 1989 में स्थापित
किया। 15 राज्यो में एसएसबी की टुकरीया काम कर रही है।लगभग 80 हजार गांवो में निवास करने वाले 5 ़73
करोड़ की जनसंख्या और 9917 किमी अन्तराष्टंीय सीमा का दायित्व पुर्णकाल से एसएसबी के जिम्मे दिया गया है। एसएसबी
ने लगभग दो लाख स्वयं सेवको को प्रशिक्षित किया।

 

सरकार ने भारत नेपाल सीमा के सुरक्षा के लिहाज से वर्ष 1999 में नेपाल से भारत का विमान अपहरण होने बाद
सरकार ने जनवरी 2001 में भारत सरकार ने मंत्रीमंडल से स्थानांतरण गृहमंत्रालय में एक अर्द्धसैनिक बल के रूप में कर
दिया। भारत नेपाल की खुली सीमा 1751 किमी जिम्मेवारी एसएसबी को सौपी। उसके बाद 2004 में सरकार ने भारत
भुटान सीमा पर सुरक्षा के दृष्टिकोण से एसएसबी की तैनाती कर दी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में कर्नर आरके
अरोड़ा, जयनगर अनुमंडल पदाधिकारी शंकरशरण ओमी, अवर निवार्चन पदाधिकारी कुमुन्द रंजन, बीडीओ सुधीर
कुमार, ईओ डा इन्द्रकुमार मंडल, थाना इंस्पेक्टर उमाश्ंाकर राय, देवधा थानाध्यक्ष उमेश पासवान,
उपसमादेष्टा हरेराम साव, सहायक कमानडेन्ट पीयूष सिन्हा,रविन्द्र कुमार, उपनिरीक्षक, जगदीश चन्द्र, कृपा राम, कान्ती
सिंह नेगी, तेज बहादुर, राहुल सिंह, मंगलम कुमार झा, नवीन कुमार, नीरभ कुमार समेत अन्य मौजूद थे।
बालीबाल , रस्सी कस्सी प्रतियोगिता हेड क्वाटर कम्पनी व जी कम्पनी के बीच किया गया। विजेता को कर्नर आरके अरोड़ा
के द्वारा पुरस्कार वितरण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *